Thursday , September 20 2018
Home / Lifestyle / जो महिलाएं कम कपड़े पहनती हैं वें अधिक समझदार मानी जाती है।
women who wear less clothing are perceived to be more intelligen
women who wear less clothing are perceived to be more intelligent

जो महिलाएं कम कपड़े पहनती हैं वें अधिक समझदार मानी जाती है।

जो महिलाएं कम कपड़े पहनती हैं उन्हें ज्यादा कपड़े पहनने वाली महिलाओं की तुलना में अधिक समझदार माना जाता है ।

हम एक समाज के रूप में , मर्यादा के नाम पर त्वरित और बहुत मुखर निर्णय करने के लिए कूद करने की प्रवृत्ति है । एक शक के बिना, एक ऐसा क्षेत्र है जहां यह दशकों के लिए दर्द स्पष्ट किया गया है कि महिलाओं को जो खुलासा कपड़े पहनने की जनता शर्मसार है ।आखिर क्यों हमारे घर पहनने के कपड़े अलग होते हैं और कहीं बाहर जाने के अलग? क्यों हम जब किसी से मिलने जाते हैं तो अच्छे से तैयार होकर जाते हैं?जब हम किसी से मिलते हैं तो हमारी पर्सनैलिटी और ड्रेसिंग ही पहला असर डालती है.दरअसल, ऐसा तो नहीं होता है कि हम किसी से मिलें और वो कुछ ही मिनटों में हमारे व्यवहार और सोच को समझ ले. बेशक, यह वास्तव में दुनिया भर में एक मुद्दा है, और अधिक होने की संभावना है , अगर तुम एक औरत हो ।

 Clothing Fashion
Clothing Fashion

किसी भी शख्स पर पहला असर हमारी पर्सनैलिटी और प्रेजेंटेशन का पड़ता है और ये बात महिलाओं और पुरुषों दोनों पर ही समान रूप से लागू होती है. लेकिन महिलाओं के संदर्भ में किए गए एक अध्ययन से चौंकाने वाली बात सामने आई है. तो आप इन निर्णयों को व्यक्तिगत रूप से प्रभाव का सामना करना पड़ा है। चाहे आप एक माता पिता है कि आप बस एक स्कर्ट में घर से बाहर अनुमति नहीं दी जाएगी कि कम ,
एक ताजा अध्ययन के मुताबिक, जो महिलाएं कम कपड़े पहनती हैं उन्हें ज्यादा कपड़े पहनने वाली महिलाओं की तुलना में अधिक समझदार माना जाता है. हालांकि ये नतीजे पूरी तरह से लुक-बेस्ड हैं लेकिन ये वाकई हैरत में डालने वाली बात है.

यूनिवर्सिटी ऑफ बेडफोर्डशायर के डॉक्टर अल्फ्रेडो गैटन ने इस अध्ययन के लिए करीब 64 अंडरग्रेजुएट्स की प्रतिक्रियाओं का विश्लेषण किया. उन्हें कुछ महिलाओं की तस्वीरों को दो सेट्स में दिखाया गया. एक तस्वीर में इन महिलाओं ने छोटे टॉप, जैकेट और छोटी स्कर्ट पहन रखी थी और दूसरे सेट की तस्वीर में एक लंबी स्कर्ट और शरीर को लगभग पूरा ढकने वाला टॉप पहन रखा था. अपने परिधान चुनाव में भी विचारोत्तेजक होने के लिए एक शिक्षक या अपने धार्मिक समुदाय में नेता द्वारा डांटा द्व

रा कहा गया है , इसके बाद इन छात्रों से तस्वीरों को वफादारी, नौकरी, नैतिकता, पर्सनैलिटी, सेक्स के प्रति रुझान और समझदारी जैसे मानकों पर रखकर प्वाइंट्स देने को कहा गया.

नतीजों के बारे में बताते हुए गैटन कहते हैं कि तस्वीरों को देखने के बाद ज्यादातर लोगों ने माना है कि छोटे कपड़े पहनने वाली लड़कियां अपेक्षाकृत ज्यादा समझदार नजर आती हैं. हालांकि इस अध्ययन को अंतिम सत्य नहीं माना जा सकता है क्योंकि शोध के लिए जिन लोगों से सवाल किए गए वे संख्या में काफी कम थे. या एक के द्वारा सूचित किया हेकलर कि अपने कपड़े बना रही है उन्हें एक खास तरह लग रहा है, आप अपने व्यक्तिगत कैसे आप फैशन का पता लगाने के लिए चुन लिया है पर आधारित मूल्य के बारे में किए गए निहितार्थ का डंक पता है।गैटन मानते हैं कि छोटे कपड़े पहनने वाली लड़कियों को अब भी नकारात्मक माना जाता है लेकिन उनके सेक्सी लुक को सकारात्मकता के साथ देखा जाता है.

जो महिलाएं कम कपड़े पहनती हैं वें अधिक समझदार मानी जाती है।
Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published.